• Time -
Breaking News
  1. #आवश्यकता है: सम्पूर्ण बिहार झारखंड बंगाल में रिपोर्टर की
  2. रविवार से शुरू होगी Amazon-Flipkart-Myntra-Paytm की फेस्टिव सेल, यहां मिलेंगे बंपर ऑफर
  3. अधिकारियों ने लोगो से की अपील प्लास्टिक को कहे बॉय बॉय
  4. नेशनल जुडो चैंपियनशिप में डबल स्वर्ण पदक जीत बेटी ने जिले का नाम रौशन किया
  5. पूर्णिया: रालोसपा के चुनाव में हंगामा लत्तम जुत्तम के अलावा सब हुआ

news-details
Jharkhand

नहीं बढ़ेगी कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के शिक्षिकाओं की सैलरी

 राज्य की कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में कार्यरत शिक्षिकाओं का मानदेय नहीं बढ़ेगा। न ही 10 साल से ज्यादा समय से कार्यरतकर्मियों का सेवा नियमितिकरण हो सकेगा। केंद्र सरकार से कस्तूरबा गांधी बालिका मद में राशि बढ़ोतरी नहीं किये जाने बाद राज्य सरकार ने मानदेय बढ़ोतरी नहीं करने का निर्णय लिया है। 

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में मानदेय बढ़ाने का निर्णय लिया गया था, लेकिन विभाग अब अपने ही फैसले से पीछे हट रहा है। राज्य के 203 करस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में 800 शिक्षिकाएं व कर्मी हैं। इन स्कूलों में करीब 80 हजार छात्राएं पढ़ रही हैं। झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के राज्य परियोजना निदेशक उमाशंकर सिंह ने निर्देश दिया है कि राज्य कार्यकारिणी की बैठक में कस्तूरबा गांधी विद्यालय में संविदा पर कार्यरत शिक्षिकाओं, शिक्षकेत्तरकर्मियों के मानदेय में वृद्धि करने का निर्णय लिया गया था, लेकिन केंद्र सरकार के पैब (प्रोजेक्ट एप्रुवल बोर्ड) द्वारा कस्तूरबा स्कूल के मद में राशि में बढ़ोतरी नहीं की गई।

ऐसे में जो राशि फिलहाल मिल रही है, वही जारी रहेगी। साथ ही, 10 साल से अधिक अवधि से कार्यरत कर्मियों का सेवा नियमितिकरण कार्मिक विभाग के आदेश के आधार पर होगा। उमाशंकर सिंह ने स्पष्ट किया है कि इनकी नियुक्ति अल्पकालीन संविदा के आधार पर और कार्यक्रम अवधि के लिए अस्थायी रूप से हुई थी। ऐसे में नियमितिकरण नहीं हो सकेगा। 


Admin

by Cityhalchal